अब के बच्चे

किसी कोने मे बैठ कर आँखें नहीं भीगोते 

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

गाड़ियों के पीछे दूर तक नहीं दौड़ते

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

शीशे के टुकड़ों को बैठ कर नहीं जोड़ते 

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

गुब्बारों को फूला फूला कर नहीं फोड़ते 

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

एक दुसरे के पीछे रेलगाड़ी बन कर नहीं चलते 

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

परियों की कहानी सुनने को नानी के साथ नहीं बैठते 

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

पतंग के धागों को लटाई मे नहीं मोड़ते

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

खेलने को सड़कों से कंकर नहीं बटोरते

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

माँ का आँचल पकड़कर बाज़ार जाने से नहीं रोकते 

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

अब के बच्चे मिट्टी के खिलोने नहीं तोड़ते |

 

 

Advertisement

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s