सड़क

दो बच्चों को सड़क पर धागों को तोड़ते देखा 

मैंने धागों के टूटने से रिश्तों को जुड़ता देखा 

दो बड़ों को सड़क पर सिगरेट की माचिस बदलते देखा 

मैंने चिंगारियों मे दोस्ती की आग देखी

दो बूढ़े सड़क पर बस के इंतज़ार मे खड़े थे 

मैंने आँखों के सामने जिन्दगी को गुजरता देखा #Abvishu

ज़िन्दगी

वो बुढा शख्स गोलगप्पे खिलाते हुए अपनी दास्ताँ बयां करता था मुझसे

आज बरसो बाद उसके ठेले पे कोई और नाम दिखा

कौन कहता मरने पर नाम नहीं बदलते #Abvishu

 

 

ज़ुबान पर ज़ायका आता था जो सफ़हे पलटने का

ज़ुबान पर ज़ाएका आता था जो सफ़हे पलटने का
अब उँगली ‘क्लिक’ करने से बस इक
झपकी गुज़रती है
बहुत कुछ तह-ब-तह खुलता चला जाता है परदे पर
किताबों से जो जाती राब्ता था, कट गया है
कभी सीने पे रख के लेट जाते थे

Happy Birthday ImageGulzar sahab

 

 

Zindagi

किसी ने कहा था ज़िन्दगी सब कुछ सिखा देती है

 

मेरी ज़िन्दगी ने मुझे लिखना सिखा दिया #Abvishu

 

Image

 

 

Fate

वो बुजुर्ग सड़क पर घूम घूम कर पुराने अख़बार खरीदता था 

उसी सड़क पे उसकी मौत एक दिन अख़बार की सुर्खी बन गयी #Abvishu

रिक्शावाला

जब सफ़र मे थकान हो तुम रिक्शे पे बैठ जाते हो 

वो रिक्शावाला सवारी की तलाश मे बैठा बैठा थक जाता है #Abvishu

 

Image

दोस्त

वो घर से चोरी छुपे मेरे लिए सेवईयां लाया आज 

मेरी दीवाली की मिठाई भी इसी तरह जाती थी #AbvishuImage

Tanhai

पहले ईद मनाने को चाँद ढूंढता था 

अब तो चाँद के साथ ही ईद मनाता हूँ #AbvishuImage

मंदिर की सीढियों पे बैठा मै चाँद को ढूंढ रहा था
मुझे अपने दोस्तों को ईद की बधाई जो देनी थी #AbvishuImage

Bachpana

कहीं खो गया इस शहर का बचपना
गाड़ियों के पीछे बस धुआं देखा
कहीं आँखों को बच्चे न नज़र आये #Abvishu